Truso Logo
Sign Up
User Image

Eddy Aniket


POETRY & SHORT TALES
|
1 MIN READ

हाँ वो सैनिक है , जो लौटकर नही आया है

User Image
eddyakshv7
2 months ago
2 months ago
Like Count IconComment Count Icon | 36 Views


हाँ वो सैनिक है , जो लौटकर नही आया है


सवेरे सवेरे , एक खत आता है

कुछ जज्बातो से भीगा,

 लेकिन कुछ दुख छिपाता है

पर उसकी सलामती का वो पैगाम लाया है

हाँ वो सैनिक है , जो लौटकर नही आया है



नही जानता वो कडकडाती ठंड को

ना शिकायत है उसे भीगे वन से,

वाकिफ - सा है अब कच्छ के रण से.

पर उसकी नजरो से कोई बच नही पाया है

 हाँ वो सैनिक है, जिसने आराम को भूलाया है


अब बात करे फिसलते ढलान की

या खबर थी वो समुद्री तुफान की

ऊधर धरती ने गुरुर दिखाया है

तो अंबर भी अपनी तशरीफ लाया है

लेकिन हर वक्त वो ही बचाने आया है

हाँ वो सैनिक है, जिसने अपना कर्तृव्य निभाया है


सरहदो की बात ही हमे डराती है

हर रोज वो किसी घर का चिराग बुझाती है

ना धर्म का , ना जात का फर्क नही जानती है

क्युकि उसकी दहलीज पर वो अमर ही कहलाया है

हाँ वो सैनिक है, जो शहीद होकर वापस आया है


एक सूने आँचल के साथ को

डोरी से बंधे हाथ को

सम्मान देता जिनकी बात को

मीलो दूर सब छोड आया है

उसकी सुहागन को विधवा होना का डर सताया है

हाँ वो सैनिक ही है, जो तिरंगे मे लिपटकर आया है

हाँ वो सैनिक ही है, जो लौटकर नही आया है







Like Icon
Save Icon
Facebook Icon
Twitter Icon
Comments